बुद्ध पूर्णिमा - तर्कशील भारत

Header Ads Widget

Wednesday, May 26, 2021

बुद्ध पूर्णिमा

 आदम से लेकर 

इब्राहिम 

मूसा 

ईसा 

और 

आखिर में

मुहम्मद 

एक लाख चौबीस हजार नबी 

दुनिया को यह बताने आये की

तुम्हारा खुदा एक है 

तुम उसी की इबादत करो

लेकिन 

कोई भी नबी 

अपने कबीले से बाहर की दुनिया को 

यही बात नहीं समझा पाया 

नबियों की इस भीड़ से अलग

इधर पूरब में

33 कोटी भी 

जम्बू द्वीप की सीमाओं के अंदर ही

घुट कर मर गए 

लेकिन इनमे से किसी को भी

बाहर की दुनिया का दर्शन 

नसीब न हुआ 

लेकिन इसी पूरब में

बुद्ध 

सूर्य की तरह 

प्रकाशवान हुए और

पूरी दुनिया मे छा गये

यह चमत्कार 

अकेले बुद्ध ने किया

क्योंकि 

उनके विचार 

उन्मुक्त थे और

वो ईश्वरवाद के चंगुल से 

पूरी तरह मुक्त थे


"हैप्पी बर्थडे बुद्ध"


-शकील प्रेम





No comments:

Post a Comment

Pages