GOD मिल गया (कविता) - तर्कशील भारत

Header Ads Widget

Sunday, February 28, 2021

GOD मिल गया (कविता)

 GOD मिल गया (कविता)


सुबह के अखबार की सुर्खियों में

यह हेडलाइन देख उछल पड़ा की

God मिल गया है

टीवी खोला तो वहां भी

खुदा की खोज की खबरें 

सुर्खियों में थीं

मन बहुत खुश हुआ

जान में जान आई

की खुदा मिल गया है

अब टनटा खतम हुआ

झगड़े दूर हुये

युगों की टेंशन मिट गई

और धर्मों की जरूरत समाप्त हो गई


अब जातियों की नफ़रतें न होंगी

मुल्कों की सरहदें न होंगी

नफरतों में वादियाँ न होंगी

दहशत में घाटियां न होंगी

ऊंची अजानें न होंगीं

दबी जबानें न होंगी

घृणा की टहनियां 

काट दी जाएंगी

धर्मस्थलों की दौलत

बांट दी जाएगी


God मिल गया है


सुबह की इस "बड़ी खबर" पर 

दोपहर तक

पूरी दुनिया मे

बहसें शुरू हो चुकी थीं 

चर्च वालों का दावा था कि 

जो मिला है 

वो उनका यहोवा है

मस्जिद वाले 

इसे कुरान में 

फिट करने की जद्दोजहद में जुटे थे

और जो मिला

उसे अल्लाह साबित करने पर डटे थे

वेद वाले कह रहे थे यह

वेदों का करिश्मा है

जो मिला है वो

उनका परमात्मा है


शाम होते होते 

टीवी पर होने वाली बहसें 

सड़कों तक आ गईं

सभी धर्मों के ठेकेदार

आमने सामने थे

मुर्दा जिस्मों में सुगबुगाहट होने लगी

राजनीति में गरमाहट होने लगी

नेताओं ने 

इस मौके का भरपूर फायदा उठाया 

और अंधेरा होने से पहले

दुकानें जलनी शुरू हो गईं

बस्तियां उजड़ने लगीं

रगों में साफ खून की जगह

नफरते बहने लगीं और

नालों में गंदे पानी जगह

साफ खून बहने लगा

रात होने तक

सड़कों पर लाशें ही लाशे थीं


अगली सुबह तक

बस्तियां जल चुकी थीं 

कस्तियाँ लूटी जा चुकी थीं

घाटियाँ घायल थीं

और वादियां रो रहीं थीं

कीमती सामान लूटा जा चुका था

बची खुची जो चीज थी वो रद्दी थी

घरों का सामान सड़कों पर था

और लाशें ट्रकों पर लदी थीं 

शहर तबाह और कस्बा

कूड़ाघर बन चुका था

हॉस्पिटल का इमरजेंसी वार्ड

मुर्दाघर बन चुका था


टीवी की बहसें 

लगातार जारी थीं

इधर देश जल रहा था 

और उधर

नए राष्ट्रवादी चैनल पर 

पुराना धर्मवादी पैनल बैठा 

अल्लाह के रहमान होने पर और

भगवान के "दयावान" होने पर

लाइव डीबेट कर रहा था


तभी बाहर के 

टीवी चैनलों पर घोषणा हुई

की अभी अभी 

वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि

कल जो गॉड मिला था 

दरअसल वो "पार्टिकल" का नाम था 


इस पार्टिकल का

किसी भी धर्म के

गॉड यहोवा अल्लाह भगवान से 

कोई मतलब नहीं...


इस बड़ी खबर के आने तक

लाइव डीबेट की टीआरपी 

नीचे गिर चुकी थी.

लेकिन तब तक

मुल्क के लाखों लोग

लड़ लड़ कर

ऊपर उठ चुके थे.


-शकील प्रेम





No comments:

Post a Comment

Pages