ईश्वर को मानने से मन की शांति मिलती है ? - तर्कशील भारत

Header Ads Widget

Friday, June 5, 2020

ईश्वर को मानने से मन की शांति मिलती है ?

कोई अल्लाह को मानता है इससे उसे मन की शांति मिलती है तो इसमें गलत क्या है ? मजरुल इस्लाम अल्लाह खुदा गॉड या ईश्वर को मानने से मन की शांति मिलती है यह मात्र एक बहाना है किसी को बलि देने से भी मन की शांति प्राप्त होती है तो क्या बलि को जायज मान लिया जाए ? कुछ इलाकों में कभी यह भी प्रथा थी कि अपनी बड़ी संतान को नदी के हवाले कर दिया जाता था उससे भी लोगों को मन की शांति मिलती थी तो क्या उस घिनौनी प्रथा को सही मान लिया जाए ? जिन्हें खुजली की बीमारी होती है उन्हें खुजलाने से मन की शांति मिलती है लेकिन सभी जानते हैं कि इस तरह की खुजलाहट से खुजली दूर नही होती बल्कि लगातार ऐसा करते रहने से वो मामूली खुजली नासूर बन जाती है. यदि अल्लाह को मानने से मन शांत होता तो इस समय सबसे ज्यादा शांति मुस्लिम देशों में होती लेकिन पाकिस्तान अफगानिस्तान ईरान इराक सीरिया सूडान लीबिया और बंगलादेश जैसे मुस्लिम देशों में घोर अशांति का माहौल है यहां तो सभी अल्लाह को मानते हैं फिर इतने अशांत क्यों हैं ? दूसरी ओर नार्वे डेनमार्क नीदरलैंड फिनलैंड जैसे देश हैं जहां खुदा की ऐसी कोई खुजलाहट नही है फिर भी वहां शांति है और खुशहाली में ये देश दुनिया में टॉप पर हैं इससे यह साबित होता है कि ईश्वरवादियों द्वारा गढ़ा गया मन की शांति वाला यह कॉन्सेप्ट खुजलाहट को जस्टिफाई करने का बहाना मात्र है इससे मन की शांति का कोई लेना देना नही.

No comments:

Post a Comment

Pages