रोटियां - तर्कशील भारत

Header Ads Widget

Sunday, May 10, 2020

रोटियां

 रोटियां


भूख खत्म हो गई भूख के साथ भूखा भी खत्म हो गया भूख और भूखे के साथ ही भूखे के भूख की जद्दोजहद भी खत्म हो गईं बच गईं तो सिर्फ यहां वहां बिखरी पड़ी भूखे की रोटियां,
जो रेल की पटरियां भूखे के वजूद को ढोकर परदेस तक ले लाईं थीं उसी रेल की पटरी पर यहां वहां बिखरी पड़ी अब भूखे की बोटियाँ -शकील प्रेम

No comments:

Post a Comment

Pages