धर्म की किताबों का त्याग बेहद जरूरी है. - तर्कशील भारत

Header Ads Widget

Saturday, December 1, 2018

धर्म की किताबों का त्याग बेहद जरूरी है.

धर्म की कोई भी किताब आलोचनाओं से परे नही है वेद कुरान बाइबिल या कोई भी किताब हो इन सबकी रचनाएं इंसानो ने ही कि हैं हो सकता है इन किताबों में लिखी कुछ बातें तात्कालिक समय के लिए बहुत उपयोगी रही हो लेकिन आज इनकी कोई उपयोगिता नही है भले ही कितना ही झूठ गढ़ कर इन्हें वैज्ञानिक साबित करने की कोशिश कीजिये ये समाज को पतन में ही ले जाएगी.

जैसे दस साल पुरानी बुखार की दवा आज किसी के बुखार को ठीक नही कर सकती चाहे वो दस साल पहले कितनी ही कारगर रही हो आज कूड़े के समान है वैसे ही ये सभी ग्रंथ आज किसी काम के नही है बल्कि समाज के लिए घातक हो चुके हैं इनका त्याग बेहद जरूरी है.

No comments:

Post a Comment

Pages