10 बेहतरीन किताबें- जिन्हें परिवर्तन चाहने वाले युवाओं को एक बार जरूर पढ़नी चाहिए. - तर्कशील भारत

Header Ads Widget

Tuesday, November 27, 2018

10 बेहतरीन किताबें- जिन्हें परिवर्तन चाहने वाले युवाओं को एक बार जरूर पढ़नी चाहिए.


बेहतरीन किताबों से अच्छा साथी कोई हो नही सकता कागज के चंद पन्नों वाली मामूली सी किताब में भी इतनी ताकत होती है कि वो एक साधारण युवक को भगत सिंह बना देती हैं जी हां साथियों आज मैं 10 ऐसी ही क्रांतिकारी किताबों के बारे में बताऊंगा जिन्हें परिवर्तन चाहने वाले युवाओं को एक बार जरूर पढ़नी चाहिए.

तो चलिए सबसे पहले बात करते है 

1-धर्म समीक्षा 
विश्व विजय प्रकाशन
स्वामी सत्यभक्त

स्वामी सत्यभक्त द्वारा रचित इस क्रांतिकारी पुस्तक में हिन्दू मुस्लिम जैन बौद्ध और ईसाई इन प्रचलित पांच धर्मों की बुद्धिवादी समीक्षा की गई है ये पुस्तक देश के हर युवा को जरूर पढ़ना चाहिए.

इसके बाद बात करते हैं अगली पुस्तक की जिसका नाम है
2-रंगीला रसूल
इसके लेखक हैं 
Pandit M. A. Chamupati ये किताब हिंदी अंग्रेजी पंजाबी और उर्दू में उपलब्ध है इस पुस्तक का पहला संस्करण Mahashe Rajpal प्रकाशन ने 1927 में प्रकाशित किया था उस समय इस किताब पर काफी बवाल हुआ था लाहौर की सड़कों पर इस किताब के प्रकाशक और लेखकों के पुतले जलाए गए थे 

3-मैं भगत सिंह बोल रहा हूँ
इस किताब के लेखक है 
RAJSHEKHAR VYAS 

इस किताब में भगत सिंह के जीवन और उनकी विचारधारा पर बहुत ही बारीकी से शोध किया गया है ज्यादातर लोग आज भी भगत सिंह को देश के लिए फांसी पर चढ़ने वाले एक जुनूनी नौजवान के रूप में ही जानते है लेकिन असलियत में ये भगत सिंह के जीवन का बस एक ही पहलू है वो इससे आगे भी बहुत कुछ थे ये अनमोल किताब आपको असली भगत सिंह से परिचित कराती है.

चलिए अब बात करते हैं अगली क्रांतिकारी पुस्तक की जिसका नाम है 
4-क्या बालू की भीत पर खड़ा है हिन्दू धर्म
इस ग्रंथ के रचियता हैं आचार्य सुरेंद्र कुमार शर्मा
विश्व विजय प्रकाशन ने इस किताब को प्रकाशित किया है
वेद पुराण उपनिसद और तमाम दूसरे धर्म ग्रंथों में क्या छुपा है जानना हो तो इस किताब को जरूर पढ़िएगा

चलिए अब बात करते हैं अगली पुस्तक की जिसका नाम है
5-सत्य का विस्फोट
इसके लेखक हैं 
आशीष 
और इसे प्रकाशित किया है
विश्व बुक्स प्राइवेट लिमिटेड ने

ये पुस्तक इंसान की असीमित जिज्ञासाओं पर लगे धर्म के बांध को ध्वस्त करती है विज्ञान और धर्म को बहुत ही तर्कशीलता से परिभाषित करती हुई ये पुस्तक विभिन्न धर्मों की भीड़ में गुमशुदा इंसान को बाहर खींच लाने की ताकत रखती है.

अगली पुस्तक है 
6-Christianity exposed
इसे लिखा है
Solomon tulbure ने
और इसके प्रकाशक हैं
Writers club press newyork

इसी साल इस पुस्तक का हिंदी संस्करण आने वाला था लेकिन फिलहाल नही आ पाया है जो लोग मिसनरीज के प्रोपगेंडे में फंसकर ईसाइयत को सबसे सही धर्म मान कर उसे अपना लेते हैं उन लोगो को एक बार इस पुस्तक को जरूर पढ़ लेना चाहिए.

अगली पुस्तक का नाम है
7-कितने खरे हमारे आदर्श 
इसके लेखक हैं
राकेश नाथ
और इसे प्रकाशित किया है
विश्व विजय प्रकाशन ने

क्या वजह है कि महान आदर्शों वाला यह देश आज भी शोषण अन्याय अत्याचार गरीबी और पाखण्डों के गर्त में डूबा हुआ है हमारे आदर्श पुरुष स्वयं कितने आदर्शवादी थे जानना हो तो इस पुस्तक को जरूर पढ़िए.

अगली पुस्तक का नाम है
क्या ईश्वर है
इसके लेखक भी राकेश नाथ हैं

ईश्वर कौन है सृष्टि कैसे बनी क्या ईश्वर हमारी जरूरत है ? इस तरह के तमाम सवालों का जवाब आपको इस किताब में मिल जाएगा
और ये बहुमूल्य पुस्तक विश्व विजय प्रकाशन और सम्यक प्रकाशन दोनों जगहों पर मिल जाएगी

तर्क से काटिये अन्धविश्वाश का जाल
इसके लेखक भी राकेश नाथ हैं
और विषविजय प्रकाशन ने इसे छापा है

ये किताब सरकार को स्कूल के पाठ्यक्रम में शामिल करना चाहिए ये किताब आपको तर्कशील बनाती है समाज मे फैले तरह तरह के अन्धविश्वाशो की पोल खोलती है साथ ही सभी तरह के पाखण्डों का वैज्ञानिक तरीके से पोस्टमार्टम करती है

आखिर में है
धर्म एक अफीम इसे मैंने यानी शकील प्रेम ने लिखा है और इस पुस्तक को छापा है
गौतम बुक सेंटर

जिन 9 किताबों के बारे मैंने अभी बताया है उनकी तुलना में तो ये किताब कुछ भी नही है ये पुस्तक मेरी ओर से एक प्रयास भर है 2010 में इसका पहला संस्करण छपा था उसके बाद 2015 में इसका दूसरा संस्करण भी आ चुका है इस किताब में मैंने अपनी सीमित जानकारी द्वारा सभी धर्मों का विश्लेषण करने की कोशिश की है ये किताब मेरी वेबसाइट पर पीडीएफ फ़ाइल में उपलब्ध है.

ये सभी किताबें आप amezon से मंगवा सकते हैं या इनमे से सभी या जो भी किताब पसंद हो गूगल पर उसके प्रकाशक की वेबसाइट से ऑनलाइन भी मंगवा सकते हैं.

मुझे लगता है इन सारी किताबों को पढ़ने में तीन महीने से ज्यादा का समय नही लगेगा इसलिए तीन महीने के बाद 10 और क्रांतिकारी किताबों की लिस्ट जारी करूँगा.

No comments:

Post a Comment

Pages