कर लो दुनिया मुटठी में.... - तर्कशील भारत

Header Ads Widget

Saturday, March 17, 2018

कर लो दुनिया मुटठी में....


 दोस्तो आपने देखा होगा कुछ लोग तमाम उम्र मेहनत करते है फिर भी जिंदगी भर गरीब ही रहते हैं और कुछ लोग थोड़ी सी मेहनत किये ही दुनिया पर राज करते हैं ऐसा क्यों होता है ? आजका हमारा यह लेख आपके दिमाग की सारी बन्द खिड़कियों को खोल देगा इसलिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें !


दिमाग मे अद्भुत शक्ति होती है जिसके द्वारा आप दुनिया की बड़ी से बड़ी बाधाओं पर जीत हासिल कर सकते हैं !

लेकिन ये होगा कैसे ?

हम दिन रात अपने जीवन मे आने वाली छोटी बड़ी समस्याओ से जूझते हैं क्या हमारे जीवन मे आने वाली ये समस्याएँ खत्म हो सकती हैं ?

इन समस्याओं के रहते हम जीवन मे कुछ बड़ा कैसे कर सकते हैं ?

दोस्तों हम में ज्यादातर लोगों के सामने सबसे बड़ा बहाना यही होता है की मेरे पास पैसा नही मैं क्या कर सकता हूँ मेरी परिस्थिति बहुत खराब है मैं अकेला हूँ मेरा कोई साथ देने वाला नही ऐसे न जाने कितने ही बहाने हम पाले बैठे हैं और खुद को ऐसे न जाने कितने ही बहानों के जाल में फंसा हुआ पाते हैं !

पप्पू नाम के एक आदमी की कहानी सुनाता हूँ
पप्पू को अंधेरे से बहुत डर लगता था एक दिन रात में घर लौटते समय रास्ते मे उसकी बस खराब हो गई अब उसे तीन किलोमीटर का सुनसान रास्ता पार कर घर अकेला घर जाना पड़ गया वो हिम्मत कर कुछ दूर आगे चला तो उसे डर का भयानक एहसास होने लगा उसे लगा कि कोई उसका पीछा कर रहा है डर पर काबू पाने की कोशिश करते हुए वह थोड़ी दूर और आगे बढ़ा तो उसे अपने आसपास भूत दिखाई देने लगे वो जितनी तेजी से अंधेरे में घर की ओर बढ़ने लगा उसका डर भी उसी तेजी से बढ़ता चला गया और घर के करीब पहुंचते ही वह डर के मारे बेहोश होकर गिर पड़ा !

पप्पू को दिखाई देने वाले भूत का रहस्य क्या है आप जानते हैं ?

असल मे आदमी अगर किसी चीज के बारे में अचानक ज्यादा से ज्यादा सोचना शुरू कर देता है तो दिमाग उसके उस भ्रम को create करने में लग जाता है पप्पू के साथ भी यही हुआ उसे अंधेरे में भूत का भ्रम हुआ और ये भ्रम उस पर इतना हावी हो गया कि उसका दिमाग उसके भ्रम को जस्टिफाई करने में उसकी मदद करने लगा जिसके परिणामस्वरूप उसे आसपास भूत दिखाई देने लगे !

इस बात को एक दूसरे उदाहरण से समझाता हूँ राजकुंवर नाम का एक आदमी वर्सो बाद अपने गांव लौट रहा था राजस्थान के सुदूर रेगिस्तान में उसका गांव था बस ने उसे उसके गांव के रास्ते पर छोड़ दिया वहां से कोई सवारी नही मिलने के कारण वह पैदल ही निकल पड़ा और रास्ता भटक गया !

कई किलोमीटर पैदल चलने के बाद भी उसे दूर दूर तक कोई गांव नजर नही आया वो रेगिस्तान भटकता रहा अब उसे लगने लगा कि इसी मरुस्थल में उसकी मौत हो जाएगी क्योंकि उसका पानी खत्म हो चुका था उसपर चिलचिलाती धूप ने उसका और बुरा हाल कर दिया था !

कुछ दूर और चलने के बाद वह पूरी तरह बेहाल होगया तभी उसने देखा सामने हरियाली के बीच पानी का तालाब था वो तेजी से उस ओर भागा लेकिन वो जगह उससे दूर होती गई वो जितना उस तालाब की ओर बढ़ता वो उतना ही उससे दूर चला जाता !

उस चमत्कारी तालाब के चक्कर मे वो थोड़ी देर में ही बेहोश हो कर गिर पड़ा !

संयोग से उसे एक राहगीर ने बचा लिया जो उसके गांव का ही था !

अब चलिए दोनों कहानियों का थोड़ा विश्लेषण कर लेते है !

दोनों कहानियों में भ्रम दिमाग ने पैदा किया
असल मे पप्पू को दिखाई देने वाले भूत और राजकुंवर को दिखाई देने वाले तालाब को दोनों के दिमाग ने ही create किया था !

इसी तरह हमारी ज्यादातर समस्याओं के पीछे भी हमारा दिमाग ही होता है क्योंकि हम दिमाग को जिस ऒर चलने का कमांड देते है हमारा दिमाग उसी ओर चलना शुरू कर देता है !

हम अपने आसपास के नकारात्मक परिवेश में खुद को फंसा लेते हैं तब हम अनजाने में ही अपने दिमाग को नेगेटिव कमांड के लिए मजबूर कर देते है जिसका नतीजा यह होता है कि हमारा दिमाग हमारी परेशानियों का हल ढूंढने के बजाए खुद ही समस्याएं पैदा करने लगता है !

ऐसी परिस्थिति में आपके साथ हमेशा बुरा ही होगा आप अच्छा करने जाएंगे और बुरा हो जाएगा आप सोना छुएंगे वो मिट्टी हो जाएगा !

असल मे जिसे आप अपना bad luck कहते हो वो कुछ नही आपके दिमाग की शरारत है जिसे आप गुड लक में बदल सकते हो !!

जी हां

आप अपने साथ होने वाली सभी दिक्कतों से चुटकी बजाते ही छुटकारा पा सकते हैं इसके लिए आपको अपने दिमाग के साथ थोड़ा edjustment बिठाना पड़ेगा !

इसके लिए मैं आपको कुछ टिप्स बताने जा रहा हूँ जिन्हें फॉलो कर आप अपने दिमाग को साध सकते हैं और आप अपने सामने आने वाली बड़ी से बड़ी मुश्किलों को भेद कर अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं !

1- हमेशा पॉजिटिव सोचिये चाहे हालात कितने ही नेगेटिव हो आप घबराइए नहीं

2-दिमाग को हमेशा शांत रखें और खाली समय मे बेहतरीन किताबें पढ़ें


3-सुबह आधा घंटा अपने दिमाग के लिए समय निकालें
अकेले ध्यान की मुद्रा में बैठकर वो सोचे जो आप चाहते हैं !

4-उन लोगों से दूर रहें जो हमेशा नकारात्मक सोचते हैं !

5-मौका मेहनत और जुनून का नाम ही किस्मत है अगर आप अपने जुनून के लिए जीतोड़ मेहनत करने को तैयार हैं तो निश्चित रहिये जिंदगी आपको मौका भी जरूर देगी !

No comments:

Post a Comment

Pages