कसम खुदा की हम नहीं सुधरेंगे ! - तर्कशील भारत

Header Ads Widget

Friday, March 24, 2017

कसम खुदा की हम नहीं सुधरेंगे !

 Anarya Bharat
बीजेपी के राज में मुसलमान खुद को असुरक्षित क्यों महसूस कर रहा है अरे भाई अल्ला पर से भरोसा उठ गया है क्या ?
अल्लाह पर भरोसा रखो चाहे कोई तुम्हारी बोटियां नोच डाले पर तुम अपने यकीन को कायम रखो देखो की कहीं नमाज क़ज़ा न हो जाये !
चाहे वे तुम्हारी बेटियों को सरेआम नंगा करें उनसे सामूहिक बलात्कार करें लेकिन तुम अपने यकीन पर कायम रहो इसका बदला तुम्हे आख़िरत में मिलेगा इस बात पर गुमान भी करो क्योंकि तुम मुसलमान हो उम्मती हो जन्नत तुम्हे ही मिलेगी किसी काफिर को नहीं !
इसी जन्नत के लिए अपने बच्चों को मदरसों के कीड़े बना डालो दिनी तालीम जरुरी है आख़िरत के लिए , है न !
दुनिया में चाहे वह ठेला खींचे कबाब बेचे पंचर लगाये बाल काटे या कपडे सीए लेकिन दीन पर कायम रहे ! वही दीन जिसके लिए तुम पिटते रहो मरते रहो लेकिन उस पर कायम रहो !
तुम्हारे समाज में कोई डॉक्टर हो न हो लेकिन मुल्ला जरूर होना चाहिए वही मुल्ला जिसको तुम्हारी लड़कियों के स्कूल जाने से नफरत है तुम्हारे आसपास कोई स्कूल हो न हो लेकिन मदरसा जरूर होना चाहिए जहाँ से तुम्हारी आने वाली पुश्ते दीनी तालीम के नाम पर बर्बाद होती रहें !
घर में भूजि भांग न हो फिर भी जमात के नाम पर चालीस दिन काम धंधा छोड़ कर इस्लाम फ़ैलाने के लिए चिल्ला करो ठेला खींचने पंचर लगाने गोश्त बेचने से थोड़ा बहुत बचा सको तो उसे बच्चो की तालीम में खर्च करने की बजाये हज करो उर्स में खर्च करो या किसी मरे हुए पीर औलिया की दरगाह पर लुटा आओ क्योंकि दुनिया बने न बने आख़िरत तो सुधर ही जायेगा , क्यों ?
तुम चाहे टूटी झोपडी में रहो लेकिन तुम्हारी मस्जिदें आलिशान होनी चाहिए क्योंकि तुम्हे यकीन है कि मस्जिदें अल्लाह का घर होती है और जब इन्हे तोडा जाता है तब तुम्हारा वही रब्बुल कायनात अपने ही घर की हिफाजत नहीं कर पाता और उस अल्लाह के घर की चाकरी में तुम्हें शहादत मिल जाती है !
एक अल्लाह को मानने वाले तुम मुसलमान खुद सैकड़ों फिरकों में तकसीम रहो बंटे रहो एक दूसरे को नीचा दिखाने की कसरतों में मशगूल रहो देवबंदी बरेलवी सिया सुन्नी इन्ही में अपने मजहब का सामूहिक बलात्कार करते रहो और पिछड़ते चले जाओ और दोष दो हुकूमतों को जम्हूरियत को सियासत को लेकिन खुद कभी अपनी गिरेबाँ में मत झांकना !

No comments:

Post a Comment

Pages